बिहार के लिए इंडियन आयल का बड़ा दावा:4 माह में 24 शहरों के घर-घर तक पहुंचेगी पाइपलाइन से गैस, रिफिलिंग के झंझट से मिल जाएगी मुक्ति

बिहार के 24 जिला मुख्यालयों व शहरों के घरों में जून-जुलाई तक हर हाल में घरेलू गैस की आपूर्ति पाइपलाइन से होगी। अगले चार माह में गैस सिलेंडर की बुकिंग तथा रिफिलिंग कराने से मुक्ति मिल जाएगी। इंडियन आयल ने छपरा सहित नौ शहरों में इसके लिए क्षेत्रीय मुख्यालय भी खोल लिया है। छपरा क्षेत्रीय मुख्यालय के अंतर्गत मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर तथा वैशाली जिलों में हो रहे कामकाज की देखरेख की जाएगी। इस बारे में कंपनी के वरीय परियोजना प्रबंधक अनीश कुमार ने बताया कि पाइपलाइन बिछाने का काम युद्धस्तर पर जारी है। कुछ काम अतिक्रमण के कारण अटका है। कंपनी इसके लिए जिला प्रशासन के संपर्क में है।

अनीश कुमार, वरीय परियोजना प्रबंधक, पाइपलाइन प्रभाग, इंडियन आयल।
अनीश कुमार, वरीय परियोजना प्रबंधक, पाइपलाइन प्रभाग, इंडियन आयल।

बरौनी-नौबतपुर से होगी गैस आपूर्ति
उत्तर बिहार में छपरा व वैशाली के हाजीपुर में गैस की आपूर्ति नौबतपुर (पटना) से होगी। गंगा नदी को पार कराने के बाद डोरीगंज में टी प्वाइंट बनेगा जिससे छपरा शहर व हाजीपुर के लिए पाइपलाइन जाएगी। इसके लिए 6 से 12 इंच मोटी 132 किमी पाइपलाइन बिछाई जाएगी। समस्तीपुर तथा मुजफ्फरपुर शहर को बरौनी से गैस की आपूर्ति की जाएगी। इसके लिए भी युद्धस्तर पर कार्य चल रहा है। बरौनी से एनएच 28 के समानांतर दलसिंहसराय, मुसरीघरारी होते हुए पाइपलाइन बिछाने का काम अंतिम चरण में है। बरौनी से मुजफ्फरपुर तक 12 इंच मोटी स्टील की 121 किमी पाइपलाइन बिछाई जाएगी। दलसिंहसराय, समस्तीपुर तथा मुजफ्फरपुर शहर के घरों में गैस आपूर्ति के लिए सर्वे भी चल रहा है।

पाइपलाइन से गैस आपूर्ति योजना वाले 24 जिला मुख्यालय
बिहार के 24 जिला मुख्यालयों में पाइपलाइन से घरेलू गैस आपूर्ति की योजना है। इनमें औरंगाबाद, कैमूर, रोहतास, अररिया, पूर्णिया, कटिहार, किशनगंज, अरवल, जहानाबाद, भोजपुर, बक्सर, खगड़िया, सहरसा, मधेपुरा, लखीसराय, मुंगेर, भागलपुर, मुजफ्फरपुर, वैशाली, समस्तीपुर, शेखपुरा, जमुई, नवादा तथा छपरा शामिल हैं। इनके साथ-साथ झारखंड के बोकारो, हजारीबाग, रामगढ़, कोडरमा तथा देवघर जिला मुख्यालय के शहरों में भी पाइपलाइन से गैस आपूर्ति का कार्य अंतिम चरण में है।

उत्तर बिहार में 36 CNG स्टेशन भी खुलेंगे
पाइपलाइन गैस आपूर्ति के साथ-साथ इंडियन आयल वाहनों में भरे जाने वाले CNG के आउटलेट भी खोलेगा। इसके लिए प्रथम चरण में 36 पेट्रोल पंपों को चिन्हित किया गया है। इन पेट्रोल पंपों पर CNG का एक-एक नोजल प्वाइंट खोला जाएगा। अगले तीन माह में इस योजना को अमलीजामा पहनाया जाएगा। प्रथम चरण में राष्ट्रीय राजमार्ग पर स्थित बड़े पेट्रोल पंपों का चयन किया गया है। इन पर CNG स्टेशन बिठाने का कार्य चल भी रहा है।

5000 करोड़ का निवेश, रोजगार की संभावना बढ़ेगी
अनीश कुमार के अनुसार पाइपलाइन से गैस आपूर्ति योजना के लिए इंडियन आयल बिहार में 5000 करोड़ रुपये का निवेश कर रही है। इससे आमलोगों को तो सहूलियत तो होगी ही, साथ ही अप्रत्यक्ष रूप से रोजगार की संभावनाएं भी बढ़ेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed