खराब सेहत की वजह से रजनीकांत चुनावी राजनीति में नहीं उतरेंगे, फैन्स से माफी मांगी

दक्षिण के सुपर स्टार रजनीकांत (70) ने खराब सेहत की वजह से चुनावी राजनीति में नहीं आने का फैसला किया है। उन्होंने मंगलवार को तमिल में लिखी एक चिट्ठी जारी कर कहा कि वे चुनाव में उतरे बिना ही लोगों की बाहर से सेवा करेंगे।

डॉक्टर्स ने रजनी को आराम की सलाह दी है
रजनीकांत 25 दिसंबर को ब्लड प्रेशर में हो रहे उतार-चढ़ाव और थकान महसूस होने के बाद हैदराबाद के अपोलो अस्पताल में भर्ती हुए थे। दो दिन बाद उन्हें छुट्टी दी गई। डॉक्टर्स ने रजनी को एक सप्ताह तक बेड रेस्ट, कम से कम फिजिकल एक्टिविटीज और कोरोना से बचे रहने की सलाह दी थी।

31 दिसंबर को नई पार्टी का ऐलान करने वाले थे
3 दिसंबर को रजनीकांत ने कहा था कि वे नई पार्टी बनाएंगे और 2021 का विधानसभा चुनाव भी लड़ेंगे। 31 दिसंबर को नई पार्टी का ऐलान किया जाएगा।

सालभर पहले कमल हासन से गठबंधन की बात कही थी
रजनीकांत ने पिछले साल एक्टर कमल हासन के साथ गठबंधन करने की बात कही थी। तब रजनीकांत ने कहा था कि राज्य की जनता के हितों को देखते हुए यदि कमल हासन के साथ गठबंधन करने की स्थिति बनती है, तो वे जरूर एक-दूसरे के साथ आएंगे।

चुनावी राजनीति में एंट्री करने वाले साउथ के 8वें एक्टर होते रजनी
रजनीकांत अगर चुनाव में उतरते तो वे राजनीति में एंट्री करने वाले साउथ की फिल्मों के 8वें दिग्गज होते। एक्टिंग से साउथ की पॉलिटिक्स में उतरने वाली हस्तियों में डॉ. एमजी रामचंद्रन, एम करुणानिधि, जे जयललिता, कमल हासन, विजयकांत, सरत कुमार और करुनास शामिल हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *