ब्रिटेन में फाइजर की कोरोना वैक्सीन से बीमार हुए दो लोग, स्वास्थ्य विभाग ने जारी की ‘चेतावनी’

ब्रिटेन में फाइजर की कोरोना वायरस वैक्सीन लगने से दो लोगों की तबीयत खराब हो गई है। जिसके बाद आनन-फानन में नेशनल हेल्थ सर्विस को चेतावनी जारी करनी पड़ी है। यह मामला कोरोना वायरस वैक्सीनेशन शुरू होने के 24 घंटे के अंदर आया है इसलिए, ब्रिटिश सरकार की भी चिंता बढ़ गई है।

ब्रिटेन में फाइजर की कोरोना वायरस वैक्सीन लगने से दो लोगों की तबीयत खराब हो गई है। जिसके बाद आनन-फानन में नेशनल हेल्थ सर्विस को चेतावनी जारी करनी पड़ी है। यह मामला कोरोना वायरस वैक्सीनेशन शुरू होने के 24 घंटे के अंदर आया है इसलिए, ब्रिटिश सरकार की भी चिंता बढ़ गई है। जिन दो लोगों के ऊपर वैक्सीन का दुष्प्रभाव देखने को मिला है वे पेशे से स्वास्थ्यकर्मी हैं। फाइजर ने भारत में भी वैक्सीनेशन के लिए सरकार से अनुमति मांगी है। ऐसे में सरकार ऐसे सभी मामलों पर करीबी निगाह बनाए हुए है।

ब्रिटिश हेल्थ रेगुलेटरी ने जारी की चेतावनी

ब्रिटेन की नेशनल हेल्थ सर्विस (एनएचएस) ने बताया है कि इन दोनों को वैक्सीन के कारण एलर्जिक रिएक्शन हुआ है। ऐसे में ब्रिटिश स्वास्थ्य विभाग ने चेतावनी जारी करते हुए कहा कि ऐसे लोग जिन्हें किसी दवा, खाना या वैक्सीन से एलर्जी है वह फाइजर की कोरोना वैक्सीन का टीका न लगवाएं। ब्रिटेन के मेडिसिन्स एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी (एमएचआरए) ने सभी 50एनएचएस ट्रस्टों को एहतियाती सलाह दी है कि जिस भी व्यक्ति को एलर्जी हो उन्हें यह वैक्सीन न दी जाए।

ब्रिटेन में 70 लाख से अधिक लोगों को है एलर्जी

ब्रिटिश मेडिसिन्स एंड हेल्थकेयर प्रोडक्ट्स रेगुलेटरी एजेंसी के अनुसार, ब्रिटेन में गंभीर एलर्जी का इतिहास रखने वाले लोगों की सही संख्या का कोई आंकड़ा नहीं है। माना जा रहा है कि इस देश में लगभग 70 लाख लोग ऐसे हैं जिन्हें भोजन, दवा या वैक्सीन से एलर्जी हो सकती है। ऐसे में अगर इन लोगों को फाइजर की वैक्सीन लगाई जाती है तो उसके गंभीर दुष्परिणाम देखने को मिल सकते हैं।

तेजी से ठीक हो रहे हैं दोनों स्वास्थ्यकर्मी

इंग्लैंड में एनएचएस के राष्ट्रीय चिकित्सा निदेशक प्रोफेसर स्टीफन पॉविस ने कहा कि यह सलाह एहतियाती आधार पर दी गई है। इससे किसी को भी घबराने की जरूरत नहीं है। जिन दो लोगों के ऊपर इस वैक्सीन का उल्टा असर पड़ा है वे भी ठीक हो रहे हैं। बताया जा रहा है कि ये दोनों ही स्वास्थ्यकर्मी Anaphylactoid Reactions के शिकार हुए थे।

रोज 5 से 7 हजार लोगों को लगाई जा रही वैक्सीन

दो लोगों को फाइजर की वैक्सीन से एलर्जी होने के बावजूद ब्रिटिश सरकार प्रतिदिन 5000 से 7000 लोगों को टीका लगा रही है। फाइजर कोरोना वैक्सीन की 8लाख से ज्यादा डोज को पूरे ब्रिटेन के अस्पतालों में पहुंचा दिया गया है। फाइजर के एक प्रवक्ता ने कहा कि हमें COVID-19 BNT162b2 वैक्सीन के कारण दो लोगों में एलर्जी होने की रिपोर्ट मिली है। इस मामले को लेकर फाइजर और बायोएनटेक जांच में एमएचआरए का साथ दे रहे हैं।

फाइजर ने भारत में भी मांगी है इस्तेमाल की अनुमति

फाइजर कंपनी की भारतीय इकाई ने भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीजीसीआई) से फाइजर/बायोनटेक वैक्सीन के आपात इस्तेमाल की अनुमति मांगी है। ब्रिटेन में टीके को मंजूरी मिलने के बाद फाइजर और बायोनटेक को आगामी दिनों में अन्य देशों में भी इस टीके को मंजूरी मिलने की उम्मीद है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed