सुशांत के मौत की खबरों से कमाई:YouTube पर फेक न्यूज डालकर 4 महीने में कमाए 15 लाख रुपए, आरोपी बिहार से गिरफ्तार

अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद YouTube पर फेक न्यूज पोस्ट करने वाले एक YouTuber को मुंबई पुलिस ने बिहार से गिरफ्तार किया है। आरोप है कि उसने इन खबरों से बीते चार महीने में 15 लाख रुपए कमाए हैं। इस मामले में शिवसेना की लीगल सेल से जुड़े वकील धर्मेंद्र मिश्रा ने केस दर्ज करवाया था।

आरोपी 25 साल का राशिद सिद्दीकी, बिहार का एक सिविल इंजीनियर है। वह YouTube पर ‘एफएफ न्यूज’ नाम से एक चैनल चलाता है। मिश्रा की शिकायत पर सिद्दीकी के खिलाफ मानहानि, सार्वजनिक रूप से बदनाम करने और जानबूझकर अपमान के आरोप में केस दर्ज किया है। हालांकि, अदालत ने सिद्दीकी को अग्रिम जमानत दे दी है और उसे जांच में सहयोग करने को कहा है।

मुंबई पुलिस, महाराष्ट्र सरकार, मंत्री आदित्य ठाकरे और अभिनेता अक्षय कुमार के खिलाफ सिद्दीकी की खबरों को लाखों YouTubers ने देखा था। पुलिस जांच में सामने आया है कि YouTube पर सुशांत की मौत के बाद की खबर से इसने 6.5 लाख रुपए कमाए थे।

सुशांत की मौत के बाद बढ़े 1.7 लाख सब्सक्राइबर

इससे पहले मुंबई साइबर पुलिस ने दिल्ली के वकील विभोर आनंद को गिरफ्तार किया था। आनंद पर राजपूत की मौत से संबंधित फेक वीडियो पोस्ट करने और मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे और आदित्य ठाकरे को अपशब्द कहने का आरोप है। आनंद को भी इन वीडियो से हजारों सब्सक्राइबर मिले। सिद्दीकी के पास सुशांत की मौत से पहले दो लाख सब्सक्राइबर थे, जो अब बढ़कर 3.70 लाख हो गए हैं।

सुशांत की मौत को बनाया पैसा कमाने का मौका

मुंबई पुलिस के एक सीनियर ऑफिसर ने बताया, ‘अभिनेता की मौत को पैसे कमाने के एक अवसर के रूप में इस्तेमाल किया गया था, क्योंकि लोग इससे जुड़ी खबरें जानने के लिए बेताब थे। एक बार जब मीडिया ने अलग-अलग एंगल से रिपोर्ट करना शुरू कर दिया, तो YouTubers ने भी मौका देखकर फेक न्यूज पोस्ट करना शुरू कर दिया। उन्होंने मुंबई पुलिस की इमेज खराब की और लॉकडाउन के दौरान खूब पैसा कमाया।’

अक्षय कुमार ने भी ठोका 500 करोड़ के मानहानि का दावा

अभिनेता अक्षय कुमार ने भी सिद्दीकी के खिलाफ 500 करोड़ की मानहानि का दावा किया है। उसने अपने एक वीडियो में आरोप लगाया था कि अभिनेता ने कनाडा में रिया चक्रवर्ती को छिपा कर रखा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed