बिहार: वैशाली में छेड़खानी का विरोध करने पर दबंगों ने युवती को जिंदा जलाया, इलाज के दौरान हुई मौत

  • छेड़खानी का विरोध करने पर दबंगों ने युवती को जिंदा जलाया
  • पूरे मामले में लापरवाही के बाद वैशाली एसपी ने चंदपुरा ओपी प्रभारी को निलंबित कर दिया है
  • लड़की को ज़िंदा जलाये जाने के मामले में एक आरोपी को पुलिस ने किया गिरफ्तार
  •  FIR में नामजद मुख्य आरोपी चन्दन को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है
  • बाकि 2 आरोपियों की गिरफ्तरी के लिए पुलिस की ताबड़तोड़ छापेमारी

 

बिहार (Bihar) में बीते दिनों छेड़खानी का विरोध करने पर जिंदा जलाकर मारने का मामला सामने आया है. वैशाली जिले (Vaishali) में हाजीपुर देसरी थाना के चांदपुर ओपी क्षेत्र के एक गांव में 20 साल की युवती द्वारा छेड़खानी का विरोध करने पर गांव के ही दबंगों ने केरोसिन तेल डालकर उसे जिंदा जला दिया था. पीड़िता के परिजनों ने उसे पटना मेडिकल कॉलेज में भर्ती कराया है जहां आज 17 दिनों बाद इलाज के दौरान उसकी मौत हो गई.

इस घटना के बाद पूरे गांव में सनसनी फैल गई है. पीड़िता के परिजनों की मानें तो गांव का ही दबंग सतीश यादव अक्सर उनकी बेटी से छेड़खानी किया करता था. ऐसे में जब उन्होंने आरोपी के घरवालों से इसकी शिकायत की, तो दबंग सतीश और उसके दो साथियों ने घर के पास उनकी बेटी को पकड़ लिया और 30 अक्टूबर की सुबह उसे जिंदा जला दिया.

सूचना मिलने के बाद भी पुलिस ने दर्ज नहीं की FIR

इधर, इस पूरे मामले में पुलिस (Police) की भूमिका पर संदेह जताया जा रहा है. दरअसल, इस खौफनाक वारदात के तुरंत बाद पुलिस को इस घटना की सूचना मिल गई थी, जिसके तुरंत बाद पुलिस ने पीड़ित लड़की के इलाज के दौरान अस्पताल पहुंच कर बयान दर्ज कर लिए थे, लेकिन पुलिस ने मामले में FIR दर्ज नहीं की. वहीं, जब 4 दिन दिन बाद अस्पताल में भर्ती पीड़िता के बयान का वीडियो वायरल हुआ तो 4 दिन बाद पुलिस ने FIR दर्ज की. हालांकि, वारदात के 15 दिन गुजरने के बाद भी मामले में पुलिस के हाथ खाली हैं.

तेज हुई स्पीडी ट्रायल और मुआवजे की मांग

इस मामले को लेकर वैशाली एसपी (Vaishali SP) का कहना है कि कार्रवाई की जा रही है, जल्द ही आरोपियों के खिलाफ कुर्की का वारंट जारी कर आरोपी को गिरफ्तार किया जायेगा. वहीं, पूरे मामले में लापरवाही बरतने के आरोप में चांदपुर ओपी प्रभारी (Chandpura OP in-charge) को वैशाली एसपी ने सस्पेंड कर दिया है. इस घटना को लेकर महिला समाज में पीड़िता को इंसाफ दिलाने की आवाज उठने लगी है. सभी आरोपियों को तुरंत गिरफ्तार कर स्पीडी ट्रायल कर सजा देने और पीड़िता के परिजनों को मुआवजा देने की मांग की जा रही है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed