गुरु तेगबहादुर के ऐतिहासिक गुरुद्वारा लक्ष्मीपुर पर भी कोरोना का असर

कटिहार के बरारी प्रखंड में सिख धर्म के नौवें गुरु गुरु तेग बहादुर जी का ऐतिहासिक गुरुद्वारा लक्ष्मीपुर गांव के साथ साथ पूरे देश-विदेश मे चर्चित है,लेकिन लॉक डाउन होने के कारण यहा गुरुग्रंथ साहिब के दर्शन हेतु श्रद्धालुओं ने पहुँचना बंद कर दिया है, जबकि इसके पहले सामान्य दिनों में देश विदेश से सालों भर सैकड़ों लोग यहाँ आते थे, गुरु तेग बहादुर ऐतिहासिक गुरुद्वारा सिख सर्किट से जुड़ा हुआ है और इस इलाके में हजारों सिख परिवार रहते हैं, बताया जाता है कि असम से पटना वापसी के दौरान सिखों के नौवें गुरु, गुरु तेग बहादुर का बरारी कान्त नगर पर ठहराव हुआ था और उन्होंने कई महीनों तक यहां के लोगों को उपदेश दिए थे, इसी के बाद यहां पर सिखों की तादाद लगातार बढ़ने लगी और यही वजह है कि इस इलाके में आधा दर्जन से भी अधिक कई गुरुओं के नाम पर गुरुद्वारा बनाया गया है, उसमें सबसे महत्वपूर्ण है नौवें गुरु गुरु तेग बहादुर जी का ऐतिहासिक गुरुद्वारा, वहीं बरारी का यह इलाका बिहार के पर्यटन के क्षेत्र में अपनी एक अलग पहचान रखता है यही वजह है कि प्रत्येक साल लाहौर, पंजाब और अमृतसर से लाखों सिख परिवार के साथ कई अन्य धर्मों के लोग भी यहां पर रखे गए हुकुमनामा का दर्शन करने पहुंचते हैं…गुरु तेग बहादुर गुरुद्वारा के हायर ग्रांथी जगदयाल सिंह सोडी ने बताया कि इस साल कोरोना महामारी के चलते बाहर से तीर्थ यात्रियों का आना बिल्कुल बंद हो गया है।
रिपोर्ट: रितेश रंजन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed