मध्यप्रदेश: प्रोफेसर जे.के.गुप्ता ने कहा नयी शिक्षा नीति समय व 21 वीं सदी की मांग

 

चित्रकुट :महात्मा गांधी चित्रकुट ग्रामोदय विश्वविधालय चित्रकुट  मध्यप्रदेश के प्रोफेसर डां, जे.के.गुप्ता (प्रोफेसर कृषि अर्थशास्त्र) ने नयी राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 पर अपनी अभिव्यक्ति व्यक्त करते हुए बताया है कि 29/07/2020 को केन्द्रीय मंत्री मंडल भारत सरकार द्वारा नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति की स्वाकृति प्रदान कर दी गई है जो कि 21 वीं शताब्दी की पहली शिक्षा नीति है! इस नयी शिक्षा नीति के माध्यम से 34 वर्ष पुरानी शिक्षा नीति को बदली जा रही हैं! नयी शिक्षा नीति को संरक्षित करने वाले महान शिक्षाविद् डां, कस्तूरी रंजन जी व उनकी सम्पूर्ण टीम बधाई व सम्मान के पात्र है!

नयी शिक्षा नीति में वैश्विक गुणवत्ता वाले शिक्षा, समाजिक समता तथा न्याय को मुख्य रूप से फोकस किया गया है! बच्चों में शिक्षण व उसकी ग्राहता, उनकों उच्च शिक्षा के लिए तैयार करना, जिससे छात्र छात्राओं में मल्टीडिसीपलीनरी शिक्षण का आधार बन सकें व उसे विधार्थी अपना सकें! नयी शिक्षा नीति का मुख्य उद्देश्य व लक्ष्य में 100% स्कूली शिक्षा में नामांकन, शिक्षा को विश्वव्यापी शिक्षण की ओर अग्रसित करना तथा वैश्विक ज्ञान में भारत को एक शक्ति के रूप में पहचान बनाना ,उच्च शिक्षा के लिए छात्र छात्राओं का प्रोत्साहन, जिससे उच्च शिक्षा में नामांकन के अनुपात में वृद्धि हो सके, प्रायमरी शिक्षा का प्रचार एवं विकास, शिक्षा से वंचित एवं अछूते दुरस्थ क्षेत्रों तक शिक्षा के प्रसार के लिए विशेष शिक्षण जोन बनाना, सभी राज्यों व जिलों में बाल भवनों की स्थापना, जिसमें विशेष डे टाईम बोर्डिंग का प्रावधान होगा, ताकि बच्चे कला, खेलकुद एवं कैरियर से संबंधित गतिविधियों में सहभागिता कर सकें, समाजिक चेतना केन्द्र के रूप में स्कूलों की पहचान बनाना, शिक्षकों के प्रशिक्षण व शिक्षण को अपटूडेट करना, मल्टीडिसीपलीनरी शिक्षण हेतु शिक्षण प्रणाली में लचीलापन लाना, विभिन्न विषयों में सांमजस्य, वोकेशनल एजुकेशन को बढ़ावा, शोध कार्यों में प्रोत्साहन, इत्यादि प्रमुख रूप से शामिल हैं!

डां, जे के गुप्ता ने नयी शिक्षा नीति पर टिप्पणी करते हुए कहा कि, नयी शिक्षा नीति के अनुसार अब डिग्री का कार्यकाल चार वर्षीय होने से नैतिक एवं व्यावसायिक क्षमता में विकास, शोध व आर्थिक मोर्चे पर कदम बढाये जा सकेंगे!

मध्य प्रदेश से विष्णु नायक की रिपोर्ट

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed