बिहार : कटिहार में “चचड़ी पुल टैक्स “

देश में आजादी के बाद हर क्षेत्र में पुल-पुलिया और सड़कों का जाल बिछा है लेकिन इस मामले में कटिहार के प्राणपुर विधानसभा के मदनसाही गांव से जुड़े इलाके के लोग शायद अछूते हैं, 1987 के बाढ़ में प्राणपुर और मनसाही प्रखंड को जोड़ने वाली पुल बाढ़ में ध्वस्त हो गई थी, तब से लेकर अब तक इस इलाके में पुल नहीं बनने से बड़ी आबादी को हर रोज यात्रा के लिए चचरी टैक्स देना पड़ता है, आजाद भारत में चचरी पुल के इस टैक्स को लेकर लोग बेहद परेशान हैं, उन लोगों के माने तो हर बार लगभग 500 मीटर की चचरी पुल की दूरी तय करने के लिए 20 रु देना उन लोगों के लिए बेहद महंगा है, जबकि चचरी टैक्स के तहसीलदार कहते हैं कि ग्रामीणों के मदद से लग-भग एक लाख खर्च कर यह चचरी पुल बनाया गया है और उन्हें ग्रामीणों के तरफ से ही टैक्स वसूली के लिए रखा गया है, इसलिए वह लोगों से तय रुपया लेकर उन्हें बकायदा निजी स्तर पर रसीद भी देते हैं,फिलहाल टैक्स वसूलने वाले तहसीलदार के दलील और स्थानीय लोगों के चचरी टैक्स की परेशानी पर अपना ही तर्क है।
रिपोर्ट : रितेश रंजन

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *