देर रात तक नींद नहीं आती, तो अपनाएं 5 योगा आसन।

बेहतर नींद के साथ मानसिक रूप से भी स्वस्थ बनाते हैं ये 5 योग, जाने कैसे?

नींद की समस्या से परेशान है। देर रात तक जगते हैं लेकिन नींद नही आती, तो अपनाएं ये पांच योगा आसन। आप रात में सोने की कोशिश करते हैं लेकिन सो नहीं पाते इसका कारण तनाव व चिंता भी हो सकती है। अगर आप सही समय पर नहीं सोते तथा देर रात तक जागते हैं। नींद पूरी नहीं लेते तो आपको विभिन्न प्रकार की प्रॉब्लम्स हो सकती हैं। जैसे चिड़चिड़ापन और दिल से जुड़ी समस्याएं हो सकती हैं।

योग आपके दिमाग और शरीर को बेहतर नींद लाने के लिए प्रेरित करता है।

1. शवासन (Savasna)

यह आसन आपको देखने में साधारण लग सकता है लेकिन शरीर और दिमाग को शांत करने के लिए यह बहुत महत्वपूर्ण आसन है। इस आसन को करने के लिए आपको बस कमर के बल लेटना है। अपने हाथों और पैरों को सीधा आराम की अवस्था में फैला लें और हथेलियों को ऊपर की ओर रखें। आंखें बंद रखें और अपना ध्यान केवल रिलैक्सेशन पर फोकस करें। इस आसन को आप दिन के किसी भी समय कर सकते हैं। हर एक सेशन में इसे 5-6 बार दोहराएं।

2. अघोमुख श्वान आसन ( Adho Mukha Savasna)

इस आसन के अभ्यास के लिए अपने हाथों और पैरों को जमीन से मिलाते हुए कमर को ऊपर रखें। इस दौरान  आपका शरीर ‘V’ शेप में होना चाहिए। गहरी सांस लेते रहें। इस दौरान आपकी कोहनी और घुटने मुड़ने नहीं चाहिए। सिर को हाथों के बीच नीचे की ओर रखें। इस मुद्रा में एक या दो मिनट तक रहें। फिर रिलैक्स करें। इसे 5-6 बार दोहराएं।

3. विपरीत करनी आसन (Viparita karani Asan)

इस आसन को लेग-अप-द-वॉल पोज़ (Legs-up-the-wall pose) के रूप में भी जाना जाता है। इसके अभ्यास के लिए जमीन पर बैठ जाएं और फिर पीठ के बल लेट जाएं। धीरे-धीरे अपने पैरों को दीवार तक बढ़ाएं। अपनी हथेलियों को ऊपर की ओर रखते हुए बाजुओं को ज़मीन पर रखें। फिर अपनी एड़ी को छत की ओर बढ़ाते हुए ऊपर उठाएं। अपनी आंखें बंद कर लें और गहरी और लंबी सांसें लेते रहें।

4. प्राणायाम (Pranayam)

प्राणायाम करने के लिए जमीन पर पालथी मारकर बैठ जाएं। आंखें बंद कर लें, हाथों को घुटनों पर रखें। गहरी सांस लेकर थोड़ी देर सांस अंदर रोकें और फिर सांस छोड़े। इस दौरान आपको अपनी ब्रीदिंग पर फोकस करना होता है। हमेशा ध्यान रखें कि आपको सांस केवल नाक से लेनी है और मुंह का इस्तेमाल नहीं करना है। सांस लेने पर, अपने पेट को हवा से भरें और फिर धीरे-धीरे अपनी नाक का उपयोग करके सांस छोड़ें। लगभग 5-6 बार इस प्रक्रिया को दोहराएं और फिर रेस्ट करें। आमतौर पर प्राणायाम का अभ्यास बैठकर किया जाता है, लेकिन आप इसे जमीन पर लेटकर ही कर सकते हैं। इससे आपका जमीन से संपर्क होने के कारण आपको सांसों को महसूस करने में मदद मिलेगी।

5. विश्राम मुद्रा (vishram mudra)

इस मुद्रा को करने के लिए सीधा लेट जाएं और अपने दोनों हाथों को साइड में रख ले। अपने शरीर को आराम दे और गहरी सांस लें। धीरे धीरे अपनी कलाई और  ऐड़ियों को चारों ओर घुमाएं। यह आपकी बॉडी को आराम देगा।

 

हम आशा करते हैं कि आपको यह लेख पसंद आया होगा।

 

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may have missed